नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जीवनी : तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आज़ादी दूँगा!

नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जीवनी

नमस्कार दोस्तों! आप सभी ने यह एक नारा जरुर सुना होगा- “तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आज़ादी दूँगा“। यह नारा नेताजी सुभाष चंद्र बोस द्वारा दिया गया था, जो लोगों में लड़ने का जुनून भर दिया था। वे एक क्रांतिकारी नेता थे, जिनका लक्ष्य देश की आज़ादी था। वे अंग्रेजों से देश की आज़ादी … Read more नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जीवनी : तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आज़ादी दूँगा!

टुसू पर्व क्या है? टुसू परब का महत्व (Tusu Festival in Hindi) टुसू पर्व लोकगीत

टुसू परब का महत्व

नमस्कार दोस्तों! अगर आप झारखंड या इसके आसपास के क्षेत्र में रहते हैं, तो आपने टुसू परब का नाम कभी-न-कभी सुना ही होगा। यह कुड़मी समाज के लोगों और आदिवासियों का सबसे महत्वपूर्ण पर्व है। टुसू परब में पूरे पुस (पौष) महीना गाँव गुलज़ार रहता है। पूरे पौष माह में मनाए जाने वाले इस त्योहार … Read more टुसू पर्व क्या है? टुसू परब का महत्व (Tusu Festival in Hindi) टुसू पर्व लोकगीत

धैर्यवान बनो: स्वामी विवेकानन्द की प्रेरणात्मक कहानी (धीरज रखें: मोटिवेशनल स्टोरी)

स्वामी विवेकानन्द प्रेरक कहानी धैर्य

बात उन दिनों की है जब स्वामी विवेकानन्द बालक थे। एक दिन वे काशी में तालाब के किनारे टहल रहे थे। क़रीब बारह बजे का समय था। आसपास के घने पेड़ों से बंदर उतरकर इधर-उधर उछाल-कूद कर रहे थे। बंदरों को भोजन यात्रियों से ही मिलता था। लेकिन आज कहीं कोई यात्री दिखाई नहीं दे … Read more धैर्यवान बनो: स्वामी विवेकानन्द की प्रेरणात्मक कहानी (धीरज रखें: मोटिवेशनल स्टोरी)

स्वामी विवेकानन्द की जीवनी (12 जनवरी – राष्ट्रीय युवा दिवस)

स्वामी विवेकानन्द की जीवनी

नमस्कार दोस्तों! आपमें से सभी लोगों ने कभी-न-कभी स्वामी विवेकानन्द जी का नाम ज़रूर सुना होगा। उनके जन्मदिवस, 12 जनवरी को राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाया जाता है। तो पेश है आज स्वामी विवेकानन्द के जीवन से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें। स्वामी विवेकानन्द कौन थे? सबसे पहले अगर आप नहीं जानते हैं तो … Read more स्वामी विवेकानन्द की जीवनी (12 जनवरी – राष्ट्रीय युवा दिवस)

भारत के अलग-अलग राज्यों और विदेशों में मकर संक्रांति कैसे मनाया जाता है?

मकर संक्रांति पर्व

नमस्कार दोस्तों! मकर संक्रांति पर्व हर राज्य और शहर में अलग-अलग तरीके और नाम से मनाया जाता है. इसी दिन से अलग-अलग राज्यों में गंगा नदी के किनारे माघ मेला या गंगा स्नान का आयोजन किया जाता है. कुम्भ के पहले स्नान की शुरुआत भी इसी दिन से होती है. भारत के अलग-अलग राज्यों में … Read more भारत के अलग-अलग राज्यों और विदेशों में मकर संक्रांति कैसे मनाया जाता है?

मकर संक्रांति पर कविताएँ : लोहड़ी, तिल संक्रांति, पोंगल, बिहू और पतंग उत्सव पर कविताएँ

मकर संक्रांति पर कविताएँ

नमस्कार दोस्तों! बच्चे हो या बूढ़े, सभी को नए साल के सबसे पहले त्योहार, मकर संक्रांति का बेसब्री से इंतजार रहता है। इस त्योहार का संबंध प्रकृति, ऋतु-परिवर्तन और कृषि से है।और आज के इस लेख में प्रस्तुत है आपके सामने मकर संक्रांति पर कविताएँ। मकर संक्रांति  सूरज ने मकर राशि में दाखिल होकर मकर … Read more मकर संक्रांति पर कविताएँ : लोहड़ी, तिल संक्रांति, पोंगल, बिहू और पतंग उत्सव पर कविताएँ

मकर संक्रांति पर लगनेवाले खास मेले: कुम्भ मेला, माघ मेला, गंगासागर, मुक्तसर और नागफेनी रथयात्रा मेला

मकर संक्रांति मेला

नमस्कार दोस्तों! आप सभी को पता है कि 14 जनवरी को मकर संक्रांति है। देश के सभी जगहों पर इस पर्व को अलग-अलग रूप में मनाया जाता है। इसके साथ ही मकर संक्रांति मेला का भी आयोजन होता है। तो आज हम आपको मकर संक्रांति के शुभ अवसर पर लगनेवाले कुछ खास मेलों के बारे … Read more मकर संक्रांति पर लगनेवाले खास मेले: कुम्भ मेला, माघ मेला, गंगासागर, मुक्तसर और नागफेनी रथयात्रा मेला

मकर संक्रांति का महत्व : 14 जनवरी को ही क्यों मनाया जाता है मकर संक्रांति?

मकर संक्रांति का महत्व

नमस्कार दोस्तों! नए वर्ष के आगमन के साथ ही हम सभी का इंतजार होता है 14 जनवरी का, मकर संक्रांति का। लेकिन क्या आपको पता है कि हर साल 14 जनवरी को ही मकर संक्रांति क्यों मनाते हैं? इस पर्व का पौराणिक व ऐतिहासिक महत्व क्या है? आज के इस लेख में हम इन सभी … Read more मकर संक्रांति का महत्व : 14 जनवरी को ही क्यों मनाया जाता है मकर संक्रांति?